Breaking News

सीधी पुलिस के अथक प्रयास से 8446 निवेशकों को वापस मिला उनका डूबा हुआ धन

सीधी पुलिस के अथक प्रयास से 8446 निवेशकों को वापस मिला उनका डूबा हुआ धन

_*पुलिस अधीक्षक सीधी द्वारा गठित जिला स्तरीय टीम ने सहारा इंडिया के निवेशकों को वापस करवाए 36.31 करोड़ रुपए।*_

_*साथ ही, अवैध रेत माफियाओं पर लगाम कस वर्ष 2020 में 93 मामले पंजीबद्ध करते हुए परिवहन में लगे 95 वाहनों को जप्त करते हुए रेत माफियाओं को पूर्णरूपेण किया निष्क्रिय।*_

*साथ ही साथ, लगभग 13,000,00 रुपए कीमत के 100 मोबाइल फोन ढूंढकर किए संबंधित को वापस।*

श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय सीधी के कुशल निर्देशन व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय सीधी के कुशल मार्गदर्शन में सीधी पुलिस ने वर्ष 2020 में कई उपलब्धियां हासिल की है जिसमें जहां सहारा इंडिया से संबंधित शिकायतों पर कार्य करते हुए सहारा इंडिया में निवेश करने वाले 8446 व्यक्तियों के 36.31 करोड़ रुपए वापस करवाए वहीं अवैध रेत निकासी एवं परिवहन करने वालों के विरुद्ध लगाम कसते हुए शानदार कार्यवाही कर 93 मामले पंजीबद्ध कर उनके परिवहन में लगे 95 वाहनों को जप्त किया है। साथ ही
चोरी के 13 लाख रुपए कीमती 100 नग मोबाइल फोन ढूंढ कर संबंधित को सौंपा है।

*विवरण*
*1.* जिला सीधी में कई चिटफंड कंपनियों ने जाल बिछा रखे थे एवं गांव-गांव घूमकर लोगों को झूठे प्रपंचों तथा लालच के द्वारा आमजन से धोखाधड़ी करते हुए पैसे ऐठ कर कुछ ही महीनों में कम्पनी रफूचक्कर हो जाती थी।
नवागत पुलिस अधीक्षक सीधी श्री पंकज कुमावत को आगमन के साथ ही तमाम कंपनियों के नाम पर हजारों की तादाद में आवेदन पत्र प्राप्त हुए जिस को गंभीरता से लेते हुए सीधी जिले में रसूखदारों एवं चिटफंड कंपनियों व अन्य किसी भी प्रकार की कंपनियों द्वारा आम जनमानस से प्राप्त शिकायतों के निराकरण हेतु पुलिस अधीक्षक सीधी द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में जिला स्तरीय टीम का गठन किया गया तथा प्रिंट मीडिया एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया इत्यादि के माध्यम से प्रचार प्रसार किया गया कि जिन लोगों ने अपने साथ हुई धोखाधड़ी के संबंध में जानकारी के अभाव में आवेदन प्रस्तुत ना किया हो वह सभी भी अपने दस्तावेज लेकर पुलिस अधीक्षक कार्यालय की शिकायत शाखा में अपने आवेदन जमा करा दें जिससे उनका पैसा वापस दिलाने की प्रक्रिया आरंभ की जा सके। जिसके पश्चात हजारों की तादाद में आवेदन पत्र आए।
उक्त टीम द्वारा सहारा इंडिया कंपनी से संबंधित शिकायतों पर कार्य करते हुए सहारा इंडिया कंपनी के मुख्यालय एवं स्थानीय कार्यालय के अधिकारियों से संबंध में स्थापित किया गया तथा गठित टीम द्वारा माह नवंबर 2020 तक 8446 निवेशकों के कुल 36.61 करोड रुपए वापस दिलाए गए।

*2.* _*रेत माफियाओं के विरुद्ध कार्यवाही:-*_
वर्ष 2019 में अवैध रेत परिवहन के जहां 43 प्रकरण पंजीबद्ध हुए थे वही वर्ष 2020 में माह नवंबर तक में ही 93 प्रकरण दर्ज कर सीधी पुलिस ने रेत माफियाओं को पूर्णरूपेण पंगु बनाकर निष्क्रिय कर दिया है । रेत चोरी की शिकायतों पर पुलिस अधीक्षक सीधी ने विभिन्न अनुभागों में अनुविभागीय अधिकारियों के नेतृत्व में टीम गठित किया था । उक्त टीम तथा थाना एवं चौकी के प्रभारियों द्वारा शानदार कार्यवाही के द्वारा रेत माफियाओ को निष्क्रिय किया गया है।

*3.* *मोबाइल चोरी के प्रकरणों में* साइबर सेल सीधी द्वारा शानदार कार्यवाही कर माह नवंबर तक चोरी के 100 नग मोबाइल फोन को ढूंढ कर संबंधित को सौंपा गया , सभी अपने गुम संपत्ति को प्राप्त कर पुलिस की दुहाई देते हुए खुशी-खुशी वापस घर लौटे।

सीधी पुलिस आमजन एवं उनके संपत्ति की सुरक्षा के लिए पूर्णतः प्रतिबद्ध है , जिला सीधी में कई चिटफंड कंपनियां सक्रिय थी जिनकी जानकारी मिलने के बाद सहारा इंडिया कंपनी के 8446 निवेशकों के धन को वापस करवाया गया है शीघ्र ही अन्य चिटफंड कंपनियां भी हमारे चंगुल में होंगी एवं उनके हितग्राहियों के पैसे वापस करवाए जाएंगे।
जिला सीधी में खनिज संपदा रेत के माफिया काफी सक्रिय थे जिनकी आए दिन शिकायतें प्राप्त होती थी सीधी पुलिस के विभिन्न टीमों द्वारा शानदार कार्यवाही करते हुए जिला सीधी के रेत माफियाओं को निष्क्रिय कर अवैध रेत परिवहन पर अंकुश लगाया गया है । भविष्य में भी सीधी पुलिस किसी प्रकार के माफिया को पनपने का अवसर नहीं देंगी

Check Also

सिंगरौली देवसर जियावन पुलिस की बड़ी कार्यवाही अनावश्यक घूमने वाले पर की गई चलानी कार्यवाही

🔊 Listen to this Buero Report सिंगरौली देवसर जियावन पुलिस की बड़ी कार्यवाही अनावश्यक घूमने …

कृपया एक बार शेयर जरूर करें