Breaking News

*पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर पांच चिटफंड कंपनियों के विरुद्ध किया गया मामला दर्ज।*

 

*पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर पांच चिटफंड कंपनियों के विरुद्ध किया गया मामला दर्ज।*

# *ज्यादा ब्याज दर एवं पैसा दोगुना करने का लालच देकर सैकड़ों लोगों के पसीने की कमाई को लेकर चंपत हो गई थी कंपनियां*

# *पांचों कंपनियों के विरुद्ध धोखाधड़ी के तहत कई अन्य संगीन धाराओं के तहत 5 थानों में किया गया मामला पंजीबद्ध।*

_*श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय श्री पंकज कुमावत एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय सुश्री अंजूलता पटले के कुशल निर्देशन तथा मार्गदर्शन में*_
विभिन्न थाना क्षेत्रों में कुछ वर्ष पूर्व आई चिटफंड कंपनियों के द्वारा धोखाधड़ी कर पैसे वसूल करने के उपरांत चंपत हो जाने के संबंध में निम्न पांच थानों में मामले पंजीबद्ध किए गए।

*थाना कोतवाली*
सीधी शहर में संचालित जीवन सरल इन्फ्रा हाईट एंड प्रापर्टीज लिमिटेड कम्पनी संचालित की जा रही थी। इस कम्पनी का संचालन रफीक पठान निवासी थनहवा टोला,अजीत गोस्वामी निवासी जमोड़ी एवं विनोद यादव निवासी उपनी द्वारा किया जा रहा था। कोतवाली सीधी में हरिपाल कोरी पिता सत्यम कोरी,फूलमती साहू पति हीरालाल साहू ,महगी साहू पति दद्दी साहू,गुड्डू साहू पिता दद्दी साहू सभी निवासी ग्राम पोस्ट बेलहा द्वारा लिखित शिकायत में बताया गया कि इनके द्वारा जीवन सरल कम्पनी के द्वारा फर्जी बांड बनाकर पैसा लूटना एवं लालच देकर ठगी किया जाता रहा है। इनके द्वारा जीवन सरल की पालिसी आरडी एफडी के बारे में लालच देकर पैसा जमा करा लिया जाता था। तथा जीवन सरल इन्फ्रा हाईट एंड प्रापर्टीज लिमिटेड कम्पनी द्वारा फर्जी मेच्योरिटी रसीद दी जाती थी। जब फरियादियों द्वारा इनसे पैसों की मांग की गई तो ये लोग धमकी देना शुरू कर दिए जिसको जो करना हो कर लो मेरा कोई कुछ नही बिगाड़ सकता। फरियादियों की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने तीनो आरोपियों के विरूद्ध 420,406,34 आईपीसी एवं धारा 6(1) मप्र निक्षेपकों के हितो का संरक्षण अधिनियम 2000 का अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

*थाना जमोड़ी*
एचएनसी इन्फ्रास्ट्रक्चर शेयर इंडिया लिमिटेड का संचालन पड़ैनिया पेट्रोल पंप के पास मध्यांचल ग्रामीण बैंक के सामने किया जा रहा था। इसका संचालक आरडी चौधरी जो रीवा का रहने वाला बताया गया है। इस कम्पनी की हेड आफिस रीवा अनंतपुर में था जहां सतीष आर्या पिता रामधीन आर्या निवासी रघुनाथपुर जिला सतना व रामनरेश सेहगल पिता महावीर प्रसाद सेहगल निवासी समान बेलउहान टोला पोस्ट रतहरा रीवा में था। सीधी स्थित ब्राच को अशोक चौधरी निवासी पडऱा आरटीओ आफिस के पास चलाते थे। इनके साथ राजकुमार साकेत शाखा प्रबंधक निवासी सीधी, महेन्द्र नवैत तथा ओपी गुप्ता भोले किराना स्टोर एसके टेंट हाउस के पास रामरतन पाल पिता द्वारिका प्रसाद पाल ग्राम कोठार रहते थे। इनके द्वारा चार पहिया वाहनों से गांव-गांव जाकर कम्पनी में पैसा जमा करने के लिए प्रचार-प्रसार करते थे व लोगों को समझाते थे कि कम्पनी में पांच वर्षो में पैसा डबल हो जाता है। रामचनद्र यादव ने बताया कि मैं अपनी पुत्री के नाम से 8 हजार रूपये हर माह 2010 में जमा किया था। बाद मेें मैं कम्पनी का अभिकर्ता बन गया तथा गाँव गांव जाकर लोगों को समझाता था। कम्पनी जमा राशि पर 5 प्रतिशत कमीशन देती थी। मेरे द्वारा 96 लोागें से करीब 20 लाख रूपया जमा कराया गया था। चार वर्ष तक कम्पनी के एजेंट के रूप में कार्य किया गया। उक्त कंपनी 2015 में बंद हो गई। फरियादियों द्वारा रीवा में जाकर पता किया गया तो वहां से कुछ लोगों को चेक बनाकर दिया गया। तथा जिनको चेक नही मिला है उनको एक महीने बाद चेक बनाकर दिया जायेगा। तथा इनके द्वारा फोन के माध्यम से लगातार गुमराह किया जाता रहा। फरियादियों की शिकायत पर उक्त आरोपियों के विरूद्ध जमोड़ी थाना पुलिस ने 420,34 आईपीसी एवं 6 मप्र निक्षेपकों के हितों का संरक्षण अधि.2000 कायम कर विवेचना में लिया गया है।

*थाना अमिलिया*
वर्ष 2013 में अमिलिया थाना क्षेत्र में संचालित रही पशुधन लाईव स्टोक एंड मार्केटिंग इंडिया लिमिटेड कम्पनी संचालित की जा रही थी। इस कम्पनी का संचालन शत्रुधन प्रसाद दुबे निवासी तेलियानी पोस्ट विरौरा जिला मिर्जापुर,डॉ इंदर सिंह निवासी बिहटा जिला मिर्जापुर,रमेश बिंद निवासी सिकरा जिला मिर्जापुर,किशोरीलाल पटेल निवासी साडीउमान जिला प्रयागराज एवं शिवजी गुप्ता पिता राजकुमार गुप्ता निवासी रोहिनी दिल्ली द्वारा किया जा रहा था। इनके द्वारा इन्द्रबहादुर सिंह के घर पर आफिस खोला गया था। इस कम्पनी द्वारा 6 साल में पैसा दोगुना कर वापस लौटा देने का प्रचार किया गया। जिनकी बातों में आकर भोले-भाले लोगों द्वारा पशुधन लाईव स्टोक एंड मार्केटिंग इंडिया लिमिटेड कम्पनी में लगा दिया गया। वर्ष 2017 में कम्पनी ने अपना नाम बदलकर पशुपति मिच्युल बेनीफिट निधि लिमिटेड रख लिया गया तथा अमिलिया स्थित आफिस को बंद कर दिया गया। 2017 से उक्त लोगों द्वारा लालगंज मिर्जापुर में आफिस चलाया जाता रहा लेकिन दिसंबर 2019 में कम्पनी को बंद कर सभी कर्मचारी लापता हो गए। फरियादी मोहम्मद अशलम पिता बासिर शाह 39 वर्ष निवासी दलामनगंज जिला मिर्जापुर हाल मुकाम अमिलिया की शिकायत पर उक्त 6 लोगों पर अपराध क्रमांक 322/2020 धारा 420,465,467,468 आईपीसी एवं मप्र निक्षेपकों का संरक्षण अधिनियम की धारा 6(क) कायम कर आरोपियों की पतासाजी की जा रही है।

*थाना चुरहट*
16 जुलाई को चुरहट थाने के बम्हनी में लगाये गए शिविर में सुदर्शन साकेत,बुद्धिसेन साकेत,शोभनाथ साकेत,सुखलाल साकेत,दीनबंधु साकेत,मनोज साकेत एवं अन्य लोगों द्वारा अमन इन्फ्राहाइट्स प्राइवेट लिमिटेड के द्वारा प्राप्त रसीद,कम्पनी द्वारा दिए गए चेक की सम्पूर्ण जांच करने पर पाया गया अमन इन्फ्राहाइट्स प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर राजीव कुमार उर्फ डाक्टर आजाद पिता दूधनाथ साकेत निवासी ग्राम फरहद जिला रीवा एवं हाल मुकाम मैदानी रोड सच्चा नगर हरिजन बस्ती जिला रीवा एवं कम्पनी के अन्य पदाधिकारी द्वारा षडयंत्र करके बेइमानी पूर्वक शिकायतकर्ताओं से जमा कराई गई थी तथा लालच दिया गया था कि इसमें काफी ब्याज मिलेगा व जल्द ही राशि को दोगुना कर दिया जायेगा। कम्पनी के द्वारा 5 लाख 21 हजार 300 रूपये की राशि जमा कराई गई थी। जब शिकायतकर्ताओं द्वारा राशि व ब्याज की मांग की गई तो कम्पनी द्वारा चेक प्रदान कर दिये गए। जब शिकायतकर्ताओं द्वारा चेक लेकर बैंक गए तो वहां से जानकारी मिली कि खाते में पर्याप्त राशि नही है सभी चेक बाउंस हो गए। पीडि़त जब लौटकर जमोड़ी स्थित कार्यालय गए तो वहां कार्यालय बंद पाया गया। तब इसकी फरियाद बम्हनी चौकी में की गई। जिस पर चुरहट थाने में आरोपी के विरूद्ध 420,465,467,468,120 बी आईपीसी एवं मप्र निक्षेपकों का संरक्षण अधिनियम की धारा 6 कायम कर मामले को विवेचना में लिया गया है।

*थाना रामपुर नैकिन*
जीवन सरल इन्फ्रा हाईट एंड प्रापर्टीज लिमिटेड कम्पनी द्वारा रामपुर नैकिन क्षेत्र में भी कई लोगों से जमकर ठगी की गई। फरियादियों ने बताया कि कम्पनी के लोगों द्वारा बताया कि 5 साल में राशि दोगुनी कर दी जायेगी। राशि दोगुनी होने की लालच में फरियादियों द्वारा अपनी जिदंगी भर की जमा पूंजी जमा करा दी गई। फरियारियों को बकायादा बाण्ड व रसीद भी प्रदान की गई थी। लेकिन आज दिनांक तक फूटी कौड़ी नही मिली। यह कम्पनी 2018 में बंद भी हो गई। कंपनी के संचालक मोहम्मद रफीक खान पिता मोहम्मद सुल्तान खान,मोहम्मद सुल्तान खान पिता मोहम्मद सत्तार खान निवासीगण ग्राम थनहवा टोला वार्ड क्रमांक 19 तहसील गोपदबनास एवं अजीत गोस्वामी पिता बांकेलाल गोस्वामी निवासी रोझौंहा सीधी के विरूद्ध 420,465,467,468,120 बी आईपीसी एवं मप्र निक्षेपकों के हितों का संरक्षण अधि-2000 3(4),6(1) का मामला कायम कर आरोपियों की पतासाजी के लिए प्रयास किया जा रहा है।

Check Also

सिंगरौली देवसर जियावन पुलिस की बड़ी कार्यवाही अनावश्यक घूमने वाले पर की गई चलानी कार्यवाही

🔊 Listen to this Buero Report सिंगरौली देवसर जियावन पुलिस की बड़ी कार्यवाही अनावश्यक घूमने …

कृपया एक बार शेयर जरूर करें